बुधवार, 29 फ़रवरी 2012

बड़ा ही हसीं है.........





तेरे आने का  धोखा भी  बड़ा  ही  हसींन  है
जानकर अजनबी  होना बड़ा  ही  हसीं  है !

तेरी  खामोशी न  जाने  कह जाती  है क्या  क्या
कहते कहते यूँ ही खामोश हो जाना बड़ा ही हसीं है !

मुझ  तक आने के वो जाने कितने  बहाने तेरे
और पास आकर तेरा दूर जाना बड़ा ही हसीं है !

मुझसे  मिलने के किये  थे  जो  वादे  तुमने  
खुद ही तेरा उनसे मुकर जाना बड़ा ही हसीं है !

शरमा  के वो  पलकों की  चिलमन उठाना  तेरा 
फिर घबरा के खुद नज़रे चुराना बड़ा ही हसीं है...!

23 टिप्‍पणियां:

  1. आपका ये गज़ल कहना बड़ा ही हसीं है ..

    वाह!!!

    उत्तर देंहटाएं
  2. शरमा के वो पलकों की चिलमन उठाना तेरा
    फिर घबरा के खुद नज़रे चुराना बड़ा ही हसीं है...!

    poonam ji behad khoobsoorat gajal likhi hai ap ne .....hr sher lajabab lage ....bs bar bar mn me gungunata raha |

    उत्तर देंहटाएं
  3. खुबसूरत ग़ज़ल.....और उससे भी खुबसूरत लगी तस्वीर....मैंने ली है कभी किसी पोस्ट में इस्तेमाल होगी :-)

    उत्तर देंहटाएं
  4. आपकी पोस्ट चर्चा मंच पर प्रस्तुत की गई है
    कृपया पधारें
    http://charchamanch.blogspot.com
    चर्चा मंच-805:चर्चाकार-दिलबाग विर्क>

    उत्तर देंहटाएं
  5. तेरी खामोशी न जाने कह जाती है क्या क्या
    कहते कहते यूँ ही खामोश हो जाना बड़ा ही हसीं है !
    behatreen gazal है har ash aar bhaavchitr lie है .

    उत्तर देंहटाएं
  6. सुंदर गजल,के लिए,..पूनम जी बधाई,...

    समर्थक बन गया हूँ आप भी बने खुशी होगी,....

    NEW POST ...काव्यान्जलि ...होली में...

    उत्तर देंहटाएं
  7. aapne meri post 'MAUN DAS JATA HAI RISHTON KO' par bahut pyar aur acchhi tippani di...is prakar ki tippani bahut mayne rakhti hai mere liye. dhanywad aapne man se saraha meri post ko. ek nayi post dali hai intzar rahega apka.

    dhanywad.

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत सुन्दर अंदाज और लेखनी भी हसीं है ........!
    आभार !

    उत्तर देंहटाएं
  9. हंसी गज़ल ... बहुत ही कमाल के शेर हैं सभी ...

    उत्तर देंहटाएं