मंगलवार, 27 दिसंबर 2011

बस तुम.........


२६-१२-२०११



मैंने खुशबू की तरह
तेरे होने के एहसास को
अपने इर्द-गिर्द
कुछ ऐसे फैला लिया है
कि चाहूँ भी तो
कोई दूसरी महक
आ ही नहीं पाती
मेरे पास...........


*******************


तेरे होने का
एहसास ही बहुत है
मेरे लिए !
कम से कम
यह तो हुआ
कि मैं अकेली
नहीं रह गयी
खुद अपने ही लिए....

*************************

लोग तो
साथ रहते हुए भी
न जाने कितनी दूरियां
बना लेते हैं...
मन ही मन !
और एक हम हैं
कि तुझे मन से ही
अपना मान बैठे हैं
दूर से ही....







13 टिप्‍पणियां:

  1. मन ही तो है जिससे दूरियाँ भी नजदीकियां लगने लगती हैं.
    सुन्दर प्रस्तुति के लिए आभार.

    उत्तर देंहटाएं
  2. सुंदर रचना बेहतरीन प्रस्तुति !

    उत्तर देंहटाएं
  3. भावावेग की स्थिति में अभिव्यक्ति की स्वाभाविक परिणति दीखती है।

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह........प्रेम का ये सुखद पहलू जो एक गुदगुदी सी देता है .......शानदार |

    उत्तर देंहटाएं
  5. सभी लाजवाब ... पर अंतिम वाला जानदार ... रिश्ते पास से होँ या दूर से ... दिल से होने चाहियें ...

    उत्तर देंहटाएं
  6. मैंने खुशबू की तरह
    तेरे होने के एहसास को
    अपने इर्द-गिर्द
    कुछ ऐसे फैला लिया है
    कि चाहूँ भी तो
    कोई दूसरी महक
    आ ही नहीं पाती
    मेरे पास...........

    पूनम जी स्तुत्य है ये भाव ...प्रेम का ऐसा गहन भाव वाह ! सच में एक अद्वितीय रचना आपकी कलम से !

    उत्तर देंहटाएं
  7. अद्भुत प्रेम का सजीव वर्णन .................

    उत्तर देंहटाएं
  8. तेरे होने का
    एहसास ही बहुत है
    मेरे लिए !
    कम से कम
    यह तो हुआ
    कि मैं अकेली
    नहीं रह गयी
    खुद अपने ही लिए...

    बहुत खूब!

    सादर

    उत्तर देंहटाएं
  9. My greetings from France! After visiting your blog, I could not leave without putting a comment.
    I congratulate you on your blog!
    Maybe I would have the opportunity to welcome you on mine too!
    My blog is in french, but on the right is the Google translator!
    good day
    cordially
    Chris
    http://sweetmelody87.blogspot.com/
    HAPPY NEW YEAR TO YOU AND YOUR FAMILY
    Chris
    my sites
    http://sweetmelody87.blogspot.com/

    a small gift for you
    http://nsm01.casimages.com/img/2009/03/04//090304073147505743259268.jpg

    फ्रांस से मेरा अभिवादन! अपने ब्लॉग का दौरा करने के बाद, मैं एक टिप्पणी डालने के बिना नहीं छोड़ सकता.
    मैं तुम्हें अपने ब्लॉग पर बधाई!
    शायद मैं खान पर आप भी स्वागत का अवसर होगा!
    मेरा ब्लॉग फ्रेंच में है, सही लक्ष्य पर गूगल अनुवादक है!
    अच्छा दिन
    हृदय से
    क्रिस
    http://sweetmelody87.blogspot.com/
    खुश तुम और तुम्हारे परिवार के लिए नए साल
    क्रिस
    मेरे साइटों
    http://sweetmelody87.blogspot.com/

    तुम्हारे लिए एक छोटा सा उपहार
    http://nsm01.casimages.com/img/2009/03/04//090304073147505743259268.jpg

    उत्तर देंहटाएं