रविवार, 5 अगस्त 2012

आगे आगे देखिये होता है क्या ....







इक नशा सा छा रहा है इन दिनों....!
दिल को कोई भा रहा है इन दिनों..!

गा रहा था कल जो उल्फत पर गज़ल...
खुद में डूबा जा रहा है इन दिनों...!

प्यार में डूबी हुई वो इक निग़ह...
दिल मचलता जा रहा है इन दिनों...!

तेरी सूरत में न जाने क्या मिला..
वो परेशां हो रहा है इन दिनों...!

पास मेरे आये तुम कुछ इस तरह..
चाँद भी शरमा रहा है इन दिनों...!

आगे आगे देखिये होता है क्या..
तारे दिन में गिन रहा है इन दिनों...!


***पूनम***
5 अगस्त,2012


11 टिप्‍पणियां:

  1. आपकी इस उत्कृष्ट प्रस्तुति की चर्चा कल मंगलवार ७/८/१२ को राजेश कुमारी द्वारा चर्चा मंच पर की जायेगी आपका स्वागत है |

    उत्तर देंहटाएं
  2. बहुत सराहनीय प्रस्तुति.
    बहुत सुंदर बात कही है इन पंक्तियों में. दिल को छू गयी. आभार !

    http://madan-saxena.blogspot.in/
    http://mmsaxena.blogspot.in/
    http://madanmohansaxena.blogspot.in/

    उत्तर देंहटाएं




  3. ख़ूब ! बेमिसाल हैं !
    कमाल है ! कमाल है !
    जवाब में सवाल है !
    सवाल में जवाब है !
    नज़्म लाजवाब है !


    आपकी इस लाजवाब रचना का कोई जवाब है
    तो बस इतना ही कि
    इसके जवाब में हर कोई रचनाकार बुरी तरह लाजवाब हो जाएगा
    जिससे किसी भी सवाल के जवाब में कोई जवाब देते नहीं बनेगा … … …

    :))

    कहां-कहां से भावों के नगीने जड़ दिए हैं ला'कर आपने …

    "जो शिकारे पे गज़ल था गा रहा
    प्यार में पागल हुआ है इन दिनों...!"

    सुना था कि गाता वही है जो पागल होता है … … …

    संयोगवश ,
    एक ग़ज़ल गा'कर लगाई हुई है मैंने भी अपनी ताज़ा पोस्ट में …
    सुनिएगा …

    दिल के छाले किसी को दिखाते नहीं
    गुनगुनाते रहे , ग़म भुलाते रहे …


    # आपकी रचना के बारे में कुछ कहने के लिए उचित शब्द नहीं मिल रहे …

    मंगलकामनाओं सहित…
    -राजेन्द्र स्वर्णकार

    उत्तर देंहटाएं
  4. तुम करीब आ जाते हो जब जब मेरे
    बादलों में चाँद छुपता है इन दिनों....!
    aisaa hee lagtaa hai :)

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुत प्यारे प्यारे शेर, ये सबसे ख़ास लगा...
    तेरी सूरत में न जाने क्या मिला
    है खुदा भी कुछ परेशां इन दिनों...!
    शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  6. तेरी सूरत में न जाने क्या मिला
    है खुदा भी कुछ परेशां इन दिनों...!

    क्या बात है पूनम जी.
    शानदार प्यारी सी रोमांटिक प्रस्तुति.

    मेरा मार्ग दर्शन करने के लिए मेरे ब्लॉग पर आईएगा.

    उत्तर देंहटाएं
  7. श्रीकृष्ण जन्माष्टमी की हार्दिक शुभकामनाएँ.

    उत्तर देंहटाएं
  8. बहुत अच्छी प्रस्तुति! मेरे नए पोस्ट "छाते का सफरनामा" पर आपका हार्दिक अभिनंदन है। धन्यवाद।

    उत्तर देंहटाएं