सोमवार, 19 नवंबर 2012


अलग अलग मूड में लिखे गए कुछ शेर....
कुछ सही....
कुछ गलत....
आपकी इनायत....
आपकी  नज़र.......






अदा है या मोहब्बत...कैसे पहचानेंगे आप....???
आपने हमको नज़र भर कर कभी देखा नहीं....!!


************************************


परेशानी तुम्हारी हमसे अब.....देखी नहीं जाती.....
चलो हम अपने इस दिल को...अभी समझा ही लेते हैं....!!


************************************

बहुत सी बातें अनकही रह जाती हैं अक्सर 
तुम साथ ही न हुए कभी सुनने के लिए.....!!

****************************************


कितने उजाले किये है.....राहों में हमने तेरी 
न दो शाबाशियाँ....न दो.....मगर रुस्वाइयाँ न दो...!!


*************************************

यकीं तुम पर मुझको कभी खुद से जियादा था....
मगर कम्बखत दिल है ये...मानता ही नहीं...!!


**************************************

नाकामियों का किस्सा छेड़ा तो था तुमने 
और अब तुम हमीं पर तोहमत लगाते हो....!!


**************************************

तोहमतें लगाने की तो तुम्हारी पुरानी आदत है....
अब कुछ नया तरीका आजमाओ तो...हम बदनाम हो जाएँ...!!


***************************************

नादाँ थे हम ही.....जो चाहां था उसे बड़ी शिद्दत से 
अब उसकी किस्मत ही थी खराब...तो क्या कीजे...!!


***************************************

दिल की लगी कुछ ऐसे...आकर लगी है दिल पर...
दिल हो गया उसी का...की दिल्लगी थी जिसने...!!


***************************************

किसी ने दी थी दुहाई जो बात की न थी मैंने... 
आज जब बात वो हुई तो खुद ही भूल गया....


****************************************

अपने दामन में भी खुशियाँ कम हैं यूँ तो...
फिर भी देने को मेरे दोस्त कुछ कमी न हुई...!!

*****************************************

यूँ तो काफी मिर्च-मसाले हैं इस जिंदगी में....
जायका फिर भी कई बार फीका ही लगता है...!


*****************************************

होता है बिना रूह के जिस्म भी...
और मुकम्मल भी खूब ही होता..
रूह भी बिना जिस्म के जिंदा रहती है....
काश कि आपने मुझे देखा होता......!!








8 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत बढ़िया शेर पूनम जी....
    सभी लाजवाब...

    अनु

    उत्तर देंहटाएं
  2. शब्दों की जीवंत भावनाएं.सुन्दर चित्रांकन,पोस्ट दिल को छू गयी..कितने खुबसूरत जज्बात डाल दिए हैं आपने.बहुत खूब.
    बहुत सुंदर भावनायें और शब्द पोस्ट दिल को छू गयी.......कितने खुबसूरत जज्बात डाल दिए हैं आपने...बहुत खूब.आपका ब्लॉग देखा मैने और नमन है आपको और बहुत ही सुन्दर शब्दों से सजाया गया है लिखते रहिये और कुछ अपने विचारो से हमें भी अवगत करवाते रहिये.

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत खूब ....ये वाला सबसे अच्छा लगा दी -

    अपने दामन में भी खुशियाँ कम हैं यूँ तो...
    फिर भी देने को मेरे दोस्त कुछ कमी न हुई...!!

    उत्तर देंहटाएं
  4. वाह-वाह-वाह क्या बात है
    अरुन शर्मा - www.arunsblog.in

    उत्तर देंहटाएं